Prakash veg

Latest news uttar pradesh

कोरोना की तीसरी लहर आई तो बच्चों के लिए ऐसे बनाएं सुरक्षा कवच, क्या होंगे लक्षण और कैसे उन्हें बचाएं, जानें हर जवाब

1 min read

भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर से हाहाकार मचा हुआ है। अब कहा जा रहा है कि भारत में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर आई तो यह बच्चों के लिए खतरनाक होगी। ऐसे खतरे को देखते हुए बेहद जरूरी है कि हम वयस्कों के साथ ही बच्चों की सुरक्षा पर भी विशेष ध्यान दें। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कुछ तरीके बताए हैं, जिन्हें अपनाकर बच्चों को कोरोना संक्रमण से सुरक्षित रखा जा सकता है।

6 साल से बड़े बच्चों को लगाएं मास्क  
विश्व स्वास्थ्य संगठन और यूनिसेफ का कहना है कि 6 से 11 साल तक के बच्चों को मास्क पहनाना इस बात पर निर्भर करता है कि वे जिस क्षेत्र में रह रहे हैं, वहां संक्रमण की स्थिति क्या है। साथ ही, याद रखें कि दो साल से छोटे बच्चों को मास्क न लगाएं। अभिभावक बच्चों को सोशल डिस्टेंसिंग के बारे में बताएं। बच्चों में बार-बार हाथ धोने की आदत डालें।

लक्षण : लाल चकत्ते दिखें तो सतर्क हो जाएं
बच्चे को 1-2 दिन से ज्यादा बुखार रहे।
अगर बच्चे के शरीर और पैर में लाल चकत्ते हो जाएं।
अगर आपको बच्चे के चेहरे का रंग नीला दिखने लगे।
बच्चे को उल्टी-दस्त की समस्या हो।
अगर बच्चे के हाथ-पैर में सूजन आने लगे।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *