शिक्षा बजट में 3000 करोड़ की कटौती की रिपोर्ट पर ये बोले नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी

आगामी केंद्रीय बजट (Budget 2020-21) को लेकर नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी ने आशंका जाहिर की है कि केंद्र सरकार स्कूल शिक्षा बजट में 3000 करोड़ रुपये की कटौती कर सकती है। वैसे ही सरकार शिक्षा में बहुत कम धन मुहैया कराती है। उन्होंने यह भी कहा कि राजकोषीय घाटा पहले ही बहुत हो चुका है, बता दें केंद्र सरकार 1 फरवरी को आम बजट पेश करने वाली है।

उन्होंने कहा कि शिक्षा एक राज्य का विषय है। स्कूलों और शिक्षण संस्थानों को ज्यादातर राज्य सरकारों द्वारा धन मुहैया कराया जाता है। वैसे 3000 करोड़ रुपये की कटौती समुद्र में एक बूंद के समान है।

बता दें कुछ दिन पहले ही नोबेल पुरस्कार विजेत बनर्जी ने कहा था कि हमे बजट घाटा और लक्ष्य की प्राप्ति के बारे सोचने की जरूरत नहीं है, हमे महंगाई को भी लक्ष्य बनाने की जरूरत नहीं। अर्थव्यवस्था को थोड़ा पकने देना चाहिए। हम अब भी बहुत ही बंद अर्थव्यवस्था हैं, लिहाजा मुझे नहीं लगता है कि सरकार के लिए हाथ खोलने में कोई खास समस्या होगा।

प्राइवेट सेक्टर में निवेश को बढ़ाने के लिए सरकार द्वारा कॉर्पोरेट टैक्स को कम किए जाने पर बनर्जी ने कहा कि मुझे नहीं लगता मौजूदा समय में अर्थव्यवस्था को इससे मदद मिलेगी। कॉर्पोरेट सेक्टर फिलहाल नगदी के ढेर पर निर्भर है। लिहाजा इसकी कोई जरूरत नहीं थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2349249total sites visits.