दुश्मनों की खैर नहीं, रात में होने वाली घुसपैठ होगी अब नाकाम; जानें कैसे

  1. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) की अध्यक्षता में हुई रक्षा अधिग्रहण परिषद की बैठक में 22,800 करोड़ रुपये की रक्षा खरीद को मंजूरी (2,000 crore military project deal) प्रदान की गई है। इसमें सैन्य प्लेटफार्म और हथियारों की खरीद शामिल है। खास बात कि इसमें से ज्यादातर खरीद मेक इन इंडिया के प्रावधानों के तहत की जाएगी।

    रक्षा मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि इस खरीद में भारतीय नौसेना के लिए लंबी दूरी के पनडुब्बी रोधी युद्धक विमान पी-8आई की खरीद को भी मंजूरी दी। इसके अलावा असाल्ट राइफलों पर लगने वाली थर्मल इमेंजिंग नाइट साइट (दूरबीन) की खरीद को भी मंजूरी दी गई है। इनका निर्माण देश में ही किया जाएगा। इससे रात में होने वाली किसी भी घुसपैठ को नाकाम करना संभव हो सकेगा। खासकर कश्मीर के लिए ये उपकरण महत्त्वपूर्ण होंगे।

    इसके अलावा दो इंजनों वाले भारी हेलीकॉप्टरों की खरीद को भी मंजूरी प्रदान की गई। इनकी खरीद भारतीय तटरक्षक बल के लिए की जा रही है। इनका इस्तेमाल समुद्री सीमा पर निगरानी कार्य के लिए किया जाएगा ताकि किसी संभावित घुसपैठ को रोका जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1533335total sites visits.