पुलिस के हत्थे चढ़ा हत्यारोपियों की मदद करने वाला शख्स

सोमवार की देर रात यूपी पुलिस को कमलेश हत्याकांड में बड़ी सफलता मिली है। पुलिस ने इस केस से जुड़े एक शख्स मुफ्ती कैफ अली को गिरफ्तार किया है। कमलेश तिवारी की हत्या करने के आरोपी शूटर बरेली के प्रेमनगर इलाके में एक मुफ्ती से मिलने आए थे।

मुफ्ती से मीटिंग करने के बाद आरोपी शूटरों ने सूरत और दुबई तक कमलेश हत्याकांड की खबर की। इसके बाद हत्यारोपी पीलीभीत होते हुए नेपाल जाने के लिए रवाना हो गए थे। पुलिस ने कातिलों के मददगार का नाम पता ट्रेस कर लिया है। गिरफ्तारी के लिए देर रात तक पुलिस टीमें लगी रहीं।

शनिवार को लखनऊ में दिनदहाड़े हिंदू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की क्रूरता से हत्या कर दी गई थी। हत्या की साजिश सूरत में रची गई थी। सूरत के साजिशकर्ताओं के तार बरेली और पीलीभीत से भी जुड़े रहे। बरेली में प्रेम नगर इलाके के रहने वाले एक मुफ्ती ने उनकी मदद की थी। कमलेश तिवारी की हत्या करने के बाद दोनों शूटर बरेली आये थे। प्रेमनगर में संदिग्ध मुफ्ती के घर पर उनकी बैठक हुई इसके बाद अंधेरा होते ही यहां से रवाना हो गये। हालांकि वह कड़ी चौकसी की वजह से नेपाल नहीं जा पाये। रात में ही उन्होंने पलिया से एक इनोवा कार से वापसी की।

रात 12:30 बजे शाहजहांपुर पहुंचे शाहजहांपुर से दोबारा वाया सड़क रूट पर उनकी लोकेशन मिली। इसके बाद से उसका पता नहीं चला है। एटीएस एसटीएफ और पुलिस की टीमों ने प्रेमनगर के मुफ्ती को ट्रेस कर लिया है उसका नाम पता पुलिस टीमों के पास है। उसकी गिरफ्तारी के लिए एसपी सिटी, एसपी क्राइम सीओ के साथ कई दरोगा की टीमों को लगाया गया है।

लखनऊ से बरेली वाया रोड आए थे कातिल
कमलेश तिवारी की हत्या करने के बाद दोनों कातिल लखनऊ से वाया रोड बरेली आये। यहां प्रेमनगर इलाके में उन्होंने अपने मददगार के साथ बातचीत की। इसके बाद वे सीधे स्टेशन पहुंचे। ट्रेन पकड़ कर दिल्ली जा रहे थे लेकिन रामपुर से पहले ही उतर गये। लोकेशन चेंज कर पीलीभीत के जरिए नेपाल में घुसने की फिराक में थे लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2349256total sites visits.